Paper and pen…… — Lifewithwordssite

छोटी छोटी खुशियां ढूंढती हूं मैं, इस विशाल वक्त के समंदर में, जैसे गोताखोर ढूंढता है मोती, एक विशाल गहरे समंदर में । उड़ती चली जाती हूं वक्त के साथ मैं, इस आसमान की ऊंचाई की तलाश में, ना जाने कब वो मंजर आएगा, मैं हूँ कब से जिसकी तलाश में । इन आँखों ने […]… Continue reading Paper and pen…… — Lifewithwordssite